कार पर पलटा ट्रक, 2 की मौत:मुड़ते समय ट्रक बेकाबू होकर पलटा

दौर-भोपाल रोड पर झागरिया जोड़ के पास किसान के सामान से भरा ट्रक कार के ऊपर पलट गया। ट्रक के नीचे दबने से कार में सवार बुजुर्ग वकील और उनकी पत्नी की मौत हो गई। घटना के करीब आधा घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची। इस दौरान यहां भीड़ जमा हो गई। सड़क पर जाम भी लग गया। तीन क्रेन और बुलडोजर की मदद से ट्रक को उठवाया गया। इसके बाद शवों को निकाला गया। पुलिस ने आरोपी ट्रक चालक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। इस दौरान मौके पर विधायक सुदेश राय भी मौजूद रहे। कार (एमपी 37 सी 6270) से वकील राजेंद्र रैना (62), उनकी पत्नी विभा रैना (55) निवासी सीहोर रविवार रात करीब 7.30 बजे भोपाल की तरफ से जा रहे थे। वहीं, ट्रक क्रमांक यूपी 63 टी 9872 इंदौर की ओर से आ रहा था। ट्रक झागरिया की तरफ मुड़ रहा था। चालक ने मुड़ते समय ब्रेक लगाया। इसी दौरान कार ट्रक से टकरा गई, जिससे दोनों बेकाबू हो गए। ट्रक में वजन ज्यादा होने के कारण वह कार के ऊपर पलट गया और कार नीचे दब गई। कार दबकर चकनाचूर हो गई। हादसे में राजेंद्र और विभा की मौत हो गई। कार के ऊपर ट्रक गिरने से कार पूरी तरह से चपटी हो गई। कार के ऊपर ट्रक गिरने से कार पूरी तरह से चपटी हो गई। तीन क्रेन की मदद से हटाना पड़ा ट्रक ट्रक के नीचे कार डेढ़ घंटे से भी ज्यादा देर तक दबी रही। इस दौरान भीड़ जमा हो गई। वहीं, ट्रक उठाने के लिए क्रेन मंगवाई गई, लेकिन क्रेन से ट्रक को नहीं उठाया जा सका। इसके बाद बुलडोजर बुलवाया गया। इसके बाद भी ट्रक को सीधा नहीं किया जा सका। दो क्रेन और मंगवाई गईं, लेकिन ट्रक नहीं उठ सका। इसके बाद करीब 9.15 बजे ट्रक के पिछले हिस्से को उठाया गया, जिससे कि कार निकाली जा सके। कार के निकलने के बाद ट्रक का सामान खाली किया गया। इंदौर-भोपाल हाईवे फोरलेन है। यहां दुर्घटना के बाद एक तरफ की सड़क को बंद किया गया। वहीं, दूसरी लेन पर आवागमन जारी था। वहां भी ज्यादा ट्रैफिक होने के कारण जाम लग गया, जिससे करीब तीन किलोमीटर तक वाहनों की कतार लग गई। इसके साथ ही पुराने इंदौर-भोपाल हाईवे से भी वाहन निकालने पड़े। इसके बाद भी करीब तीन घंटे तक वाहन रेंगते रहे। राजेंद्र रैना और विभा रैना। राजेंद्र रैना और विभा रैना। गैस कटर से कार काटकर निकाले शव कार से शव निकालने के लिए भी पुलिस को मशक्कत करनी पड़ी। कार ट्रक के वजन से पूरी चपटी हो गई। जिसे पहले बुलडोजर की मदद से ठीक करने का प्रयास किया गया, लेकिन कुछ नहीं हुआ। शवों को निकालने के लिए गैस कटर से कार को काटा गया।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post